SIP के बारे में बहुत से लोगो को कई ग़लतफहमी हैं। नीचे कुछ प्रश्न हैं जो SIP के बारे में आपके संदेह को दूर करेंगे।

1.What is SIP?

what is sip

SIP, Systematic Investment Plans के लिए होता है। SIP mutual fund में regular रूप से investment करने का एक व्यवस्थित तरीका है। कई बार हमारे पास investment करने के लिए बहुत ज्यादा मात्रा में पैसा नहीं होता है।

जब आप किसी भी mutual fund के साथ SIP को जोड़ते है तो  आपके account से हर महीने एक निश्चित amount को debit कर दिया जाता है। यह amount आपके पसंद के mutual fund में invest कर दिया जाता है। कुछ समय बाद आपका investment जमा होता जाता हैं और वह बढ़ता रहता हैं।

2.SIP सुरक्षित है या नहीं?

sip safeMutual fund में investment करने के लिए SIP एक बहुत ही सुरक्षित तरीका है। यदि आप market की स्थिति को देखते हुए किसी mutual fund में lumpsum amount को invest करते हो, तो आप को mutual fund  के लिए एक बहुत बड़ी कीमत देनी पड़ सकती हैं। इससे बचने के लिए, जब market overvalued में नहीं होता हैं तब आपको mutual fund में investment करना चाहिए। इसके लिए आप को निश्चित रूप से market का अच्छे से ज्ञान होना चाहिए। इसे ही timing of market कहा जाता है।

SIP के माध्यम से investment करते समय आपको market की timing के बारे में चिंता करने की आवश्यकता नहीं  रहती है। SIP में आप हर महीने एक छोटे amount का investment करते हैं। यदि कुछ महीनों मे price अधिक होगी या कुछ महीनों में price कम होगी। इसका मतलब यह हुआ कि यदि आप long term  पर विचार करते हैं तो आपके द्वारा payment की जाने वाली price high और low के औसत से होगी। इस प्रकार यदि आप SIP के माध्यम से investment करते हैं तो आपको high और overvalued price का payment नहीं करना होगा। इसे ही rupee cost averaging कहा जाता है।

3.क्या SIP return पर TAX लगता है?

sip taxable

यह आपके द्वारा invest किए जाने वाले mutual fund के प्रकार और जब आपने  अपने investment को redeem किया उस बात पर निर्भर करता है।

equity mutual fund में investment के return पर एक वर्ष के बाद redeem होने पर कोई tax नहीं देना होता है। यदि आप एक वर्ष से पहले redeem करते हैं तो आपको अपने लाभ पर 15% का tax चुका ना होगा।

Note: SIP में tax का calculation individual SIP investment के आधार पर होता है। इसका मतलब है कि प्रत्येक SIP कि किस्त के लिए अलग-अलग tax का calculation किया जाता है।

उदाहरण के लिए : मान लें कि आपके पास January 2017 से शुरू होने वाले प्रति माह Rs. 1000 का एक SIP है जो की दिसंबर 2017 तक चलता है। मान लें कि आपने equity mutual fund में investment किया है। इसलिए यदि आप investment के 12 महीने बाद redeem करते हो तो आपको किसी भी प्रकार के tax का भुगतान नहीं करना पड़ेगा। इसलिए, किसी भी प्रकार के tax का भुगतान न करने के लिए January 2017 के  आपके investment को January 2018 में redeem करना चाहिए उसके बाद फरवरी 2017 में आपके द्वारा भुगतान की गई किस्त को tax चुकाने से बचाने के लिए फरवरी 2018 के बाद redeem किया जाना चाहिए।

4.क्या SIP को बंद किया जा सकता है

sip stop
हाँ। fixed deposit (FD) और recurring deposit (RD) के विपरीत, आप किसी भी समय SIP को बंद कर सकते हो। SIP plan में भुगतान रोकने के बाद आप mutual fund से अपने पैसों को redeem कर सकते हो या fund में investment को जारी  रख सकते हो।

5.क्या SIP tax में बचत कर सकता है?

sip save tax

यदि आप tax saving ELSS mutual fund में investment करने के लिए SIP का उपयोग करते हैं तो आप tax की बचत कर सकते हो। आप ELSS mutual fund में investment करके धारा 80 C के तहत Rs.1.5 लाख तक का tax में कटौती का दावा कर सकते हो।

SIP के माध्यम से ELSS mutual fund का लाभ उठाने के लिए आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि एक financial year में आपके सभी SIP कुल Rs. 1.5 लाख हैं। Rs. 1.5 लाख से अधिक investment करने से आपको कोई अतिरिक्त tax लाभ नहीं मिलेगा।  यदि आपको लगता है कि यह एक अच्छा invesinvestmet है तो आप अभी भी एक ELSS mutual fund में investment कर सकते हो।

उदाहरण 1: financial year 2017-2018 में, यदि आप अप्रैल 2017 से मार्च 2018 Rs. 12500 का SIP शुरू करते हो तो आप financial year 2017-2018 में Rs. 1.5 लाख का investment करेंगे। इस प्रकार, आप financial year 2017-2018 के लिए Rs. 1.5 लाख के tax लाभ के लिए पात्र होंगे।

उदाहरण 2: ऊपर दिए गए उदाहरण में एक छोटा बदलाव करते है आपने SIP अप्रैल 2017 में शुरू करने की जगह मान लें कि मई 2017 में शुरू किया – एक महीने की देरी से। आपके SIP की अंतिम किस्त अप्रैल 2018 में आएगी जो की financial year 2017-2018 का हिस्सा नहीं है। इसलिए financial year 2017-2018 में आपका total investment केवल Rs. 137500 होगा। तो आप केवल Rs. 137500 के tax लाभ के लिए ही पात्र होंगे।

6.क्या SIP amount को reduced/increased किया जा सकता है?

sip reduce increaseऐसा करने की प्रक्रिया बहुत कठिन होती है। लेकिन इस समस्या का समाधान है। आप ज्यादा amount के साथ एक ही fund में एक नया SIP शुरू कर सकते हो।

उदाहरण: मान लें कि आपका SIP एक महीने में ₹10000 है और आप इसे एक महीने में Rs.12000 तक बढ़ाना चाहते हैं। आप एक ही mutual fund में बड़े हुए amount के साथ एक नया SIP शुरू कर सकते हो।

Note: हालांकि ये बहुत आसान नहीं है कुछ mutual fund बहुत से कारणों से नए SIP को स्वीकार नही करते हैं। यदि आपका mutual fund आपके नए SIP को स्वीकार नहीं कर रहा है और आप अपना SIP cancel कर देते हैं तो आप एक ही mutual fund में एक नया SIP शुरू नहीं कर सकते इसलिए  इन मामलों में यह सलाह दी जाती है कि आप मौजूदा SIP को cancel न करें। यदि आपके पास extra पैसा है तो एक अलग mutual fund में एक नया SIP शुरू कर दे।

7.क्या SIP को online start किया जा सकता है?

sip online

हां आप आसानी से online SIP को start कर सकते हैं। Groww का उपयोग करके online SIP start करने के लिए पहले यह सुनिश्चित कर ले कि आपने groww.in पर sing up  किया हुआ है। अपने आवश्यक documents को upload करें (PAN, address proof, and bank statement) और उसके बाद एक mutual fund चुनें जिसमें आप SIP start करना चाहते हो। Groww.in पर mutual fund page पर जाएं और दिये गए निर्देशों का पालन करें।

8.क्या SIP एक period के लिए lock होता है?

sip lock inयदि आप open ended mutual fund में investment कर रहे है तो आपके SIP के लिए lock in period नहीं होगा। यह आपके द्वारा invest किए जाने वाले mutual fund पर पूरी तरह से निर्भर करता है। कुछ mutual fund में lock in period होता है। ELSS mutual fund में 3 साल का lock in period होता है। कई अन्य mutual fund में भी lock in period होता है। वे mutual fund जिनमें lock in period होता है उन्हें close-ended mutual funds कहा जाता है।

9.क्या SIP में exit load होता है?

sip exit load

SIP का exit load पूरी तरह से mutual fund पर निर्भर करता है। यदि mutual fund किसी period के लिए exit load को specifi करता है तो SIP पर भी एक exit load लगेगा। अधिकांश equity funds में investment के एक वर्ष से पहले redeem करने पर 1% का exit load लगता है। और एक वर्ष के बाद redeen होने पर कोई भी exit load नहीं लगता है। exit load का calculation redeem किए जाने वाले fund की value से करा जाता है।

उदाहरण: यदि investment से एक वर्ष से पहले redeem किया गया है तो 1% का exit load होता है, और आप यदि एक साल से पहले Rs.100,000 redeem कर रहे हो तो exit load total redeem किए गए amount का 1% होगा। इस case में amount Rs. 1000 होगा।

SIP के case में, प्रत्येक SIP किस्त को एक अलग investment के रूप में माना जाता है।

उदाहरण: मान लीजिए कि आपने January 2016 से दिसम्बर 2016 तक एक SIP शुरू की थी। इस mutual fund में investment से एक साल तक 1% तक का exit load होता है और एक साल के बाद कोई exit load नहीं होता है। यदि आप अप्रैल 2017 में पूरे amount को redeem करते है तो आपके द्वारा January 2016 से अप्रैल 2017 के बीच किए गए investment पर कोई भी exit load नहीं लिया जाएगा। लेकिन आपने बाद में और भी instalments का investment किया था तो मई 2016 से उन पर exit load लागू होगा।

10.क्या SIP बेहतर है RD से?

sip better rd
SIP में RD की तुलना में ज्यादा return देने की क्षमता होती है। आपके SIP पर मिलने वाला return आपके द्वारा investment किए गए mutual fund पर निर्भर करता है। ऐसे कई debt mutual fund हैं जिन्हें बहुत कम risk वाले माने जाते है और कुछ equity mutual fund भी होते  हैं जिन्हें high risk वाले माने जाते है। RD के विपरीत mutual fund में return की दर तय नहीं की जा सकती है।
RD की तुलना में debt fund आमतौर पर अधिक बेहतर return देते हैं और उन्हें कम risk वाले भी माना जाता है। यदि आप अधिक risk ले सकते है तो आपको high risk वाले equity mutual fund में invest करना चाहिए और SIP को शुरू करना चाहिए।

11.क्या SIP long term के लिए अच्छा होता है?

sip long term

हाँ long term के लिए SIP में investment करना बहुत ही अच्छा है। investment करने के लिए पैसे आने की राह देखना और फिर जमा करने से अच्छा है आप जितने भी पैसों की saving कर सकते हो उसे invest करना शुरू कर दे । इस तरह आपके पैसों का हमेशा investment होता रहेगा।

इतना ही नही long term के लिए investment करके आप short term market में होने वाले परिवर्तनों से अपने investment को प्रभावित होने से भी बचा सकते है।

12.क्या SIP और mutual fund एक समान है?

sip mutual fund same thing

SIP mutual fund में investment करने के लिए उपयोग की जाने वाली एक method है। आप mutual fund में दो तरीकों से investment कर सकते हैं: lump sum और SIP जब आप lump sum investment करते है तो आप mutual fund में एक ही बार में एक बड़े amount को डालते हैं। जबकि SIP मे आप regular रूप से small amount का investment करते हो – आमतौर पर यह हर महीने का होता है।

13.कौन सी SIP में invest करे?

which sip invest

आप किस SIP में investment करते हैं वह आपकी आवश्यकताओं पर निर्भर करता है। यदि आप risk लेने के लिए तैयार है तो आप small और mid cap mutual fund में investment कर सकते हो। और यदि आप थोड़ी कम risk लेना चाहते हो तो आप large cap mutual funds में अपना investment कर सकते हो। यदि आप बहुत ही कम risk के साथ मे रहना चाहते हो तो आप अपना investment  debt mutual funds में भी कर सकते हो।

SIP के माध्यम से invesinvest को करना न केवल नए investors के लिए बल्कि अनुभव रखने वाले investors के लिए भी किसी mutual fund में investment करना एक अच्छी शुरुआत है। investment करने से पहले पूरा ध्यान लगा कर के पूरी जांच- पड़ताल कर ले उसके बाद ही कोई investment करे।

Investment   की शुभकामनाएं!