म्युच्युअल  फंड की सबसे अच्छी बात है कि ये आपको  SIP ( सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लानिंग ) के ज़रिये एक छोटी सी राशि से भी इन्वेस्ट करने देते हैं।

जब आप एक एसआईपी (SIP) को किसी म्यूचुअल फंड के साथ सेट करते हैं, तो आपके खाते में हर महीने एक फिक्स्ड राशि डेबिट होती है। इस राशि को आपकी पसंद के म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट किया जाता है।

समय के साथ, आपके इन्वेस्टमेंट इकट्ठे होते जाते हैं और बढ़ते रहते हैं।

SIP के बारे में जानने लायक 13 बातें

इन्वेस्ट करना चाह रहे हैं? ग्रो के साथ अकाउंट बनाएँ और डायरेक्ट म्युच्युअल  फंड में इन्वेस्ट करना शुरू करें वो भी एकदम मुफ़्त

दिन पे दिन, एसआईपी (SIP) इन्वेस्टर्स की पसंद बनते जा रहा है, क्योंकि वे बाजार में होने वाले उतार-चढ़ाव से जुड़ी परेशानी को काम करते हैं। आज इंवेस्टमेंट के ऐसे कईं ऑप्शन मौजूद हैं, जहाँ इन्वेस्टर, ₹500 से ₹1000 तक की छोटी सी राशि हर महीने इन्वेस्ट कर सकते हैं, और अपना एक सॉलिड म्युच्युअल  फंड पोर्टफोलियो बना सकते हैं।

Best SIP Plans for High Growth in the Long Term - At a Glance
Fund Name 1Y 3Y 5Y Expense Ratio Turnover Ratio Category Risk
Mirae Asset Large Cap Fund - Direct - Growth 10.79% 17.09% 15.79% 0.64% 14% Equity
(Large Cap)
Moderately High
Mirae Asset Emerging Bluechip Fund - Direct - Growth 9.88% 18.93% 21.76% 0.8% 35% Equity
(Large & Mid Cap)
Moderately High
HDFC Small Cap Fund - Direct - Growth -5.95% 17.68% 16.96% 0.84% 37% Equity
(Small Cap)
Moderately High
L&T Emerging Businesses Fund - Direct - Growth -10.92% 16.76% 16.95% 0.82% 26% Equity
(Small Cap)
High

In this article

लॉन्ग टर्म के लिए हाई ग्रोथ वाले सबसे अच्छे SIP प्लान – विवरण (डिटेल्स)

1.मिराए एसेट इंडिया इक्विटी फंड – डायरेक्ट

यह एक मल्टीकैप म्युच्युअल  फंड है जिसे 1 जनवरी 2013 को लॉन्च किया गया था। यह एक ऐसा फंड है जिसमें थोड़ी ज़्यादा रिस्क होती है और जिसने अपने लॉन्च से अब तक 19.34% का रिटर्न दिया है।

इस फण्ड से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण  जानकारी:

ग्रो के द्वारा रेटिंग 5 स्टार
AUM (फंड का साइज़) ₹9,033 करोड़
कम से कम SIP

₹1000

कम से कम SWP

₹1000

अपने बेंच मार्क के मुकाबले में परफॉरमेंस लॉन्च होने से अब तक इसने लगातार अपने बेंचमार्क S&P BSE 200 से बेहतर परफॉर्म किया है।
फंड की आयु 5 साल पुराना
खर्च अनुपात (एक्सपेंस रेशो )    1.32%
एग्ज़िट लोड अगर 0-1 साल में रिडीम किया जाए तो एग्ज़िट लोड 1% होगा।
टाइप ओपन एंडेड

 

इन्वेस्टमेंट उद्देश्य :

इस स्कीम का मुख्य उद्देश्य है इक्विटी और इक्विटी से जुड़ी सेक्योरिटीज़ में इन्वेस्ट करते हुए संभावित इन्वेस्टमेंट के अवसरों को ढूँढना और लॉन्ग टर्म कैपिटल को बढ़ाना।

इन्वेस्ट करने के लिए 5 सबसे अच्छे मल्टीकैप फंड

यह म्युच्युअल  फंड, लार्ज साइज़ की कंपनियों के स्टॉक्स (शेयर) में इन्वेस्ट करता है। यह लार्ज साइज़ वाली कंपनियाँ, इक्विटी मार्केट की बड़ी और अच्छी तरह से स्थापित कंपनियाँ होती हैं।

ये कंपनियाँ मज़बूत, नामी, भरोसेमंद होती हैं  और आम तौर पर मार्केट कैपिटल द्वारा बताई गई 100 सबसे अच्छी कंपनियों की गिनती में आती हैं।

 

2. मिराए एसेट इमर्जिंग ब्लूचिप फंड – डायरेक्ट – ग्रोथ

यह एक लार्ज मल्टीकैप म्युच्युअल  फंड है जिसे 1 जनवरी 2013 को लॉन्च किया गया था। यह एक ऐसा फंड है जिसमे बहुत ज़्यादा रिस्क होती है और जिसने अपने लॉन्च से अब तक 27.47% का रिटर्न दिया है।

इस फण्ड से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण  जानकारी:

ग्रो के द्वारा रेटिंग 4 स्टार
AUM (फंड का साइज़) ₹5,364 करोड़
कम से कम SIP

₹1000

कम से कम SWP

₹1000

अपने बेंच मार्क के मुकाबले में परफॉरमेंस लॉन्च होने से अब तक इसने लगातार अपने बेंचमार्क निफ़्टी लार्ज मिडकैप 250 इंडेक्स से बेहतर परफॉर्म किया है।
फंड की आयु 5 साल पुराना
खर्च अनुपात (एक्सपेंस रेशो )    11.73%
एग्ज़िट लोड अगर 0-1 साल में रिडीम किया जाए तो एग्ज़िट लोड 1% होगा।
टाइप ओपन एंडेड

इन्वेस्टमेंट उद्देश्य :

यह स्कीम ऐसी कंपनियों की भारतीय इक्विटी और इक्विटी से जुड़ी सेक्योरिटीज़ के डाइवर्सिफाइड पोर्टफोलियो में इन्वेस्ट करके इनकम और कैपिटल बढ़ाना चाहती है, जो ना तो मार्केट कैपिटलाइज़ेशन के हिसाब से सबसेअच्छे 100 शेयरों का हिस्सा हैं और ना ही उनके पास उस समय इन्वेस्टमेंट के लिए ₹ 100 करोड़ का मार्केट कैपिटलाइज़ेशन है।

समय-समय पर फंड मैनेजर दूसरी तरह की भारतीय इक्विटी और इक्विटी से जुड़ी सेक्योरिटीज़ में भी इन्वेस्ट करता है ताकि एक अच्छा पोर्टफोलियो मेन्टेन कर सके।यह स्कीम रिटर्न की कोई गारंटी नहीं देती है।

इस फंड की अपनी 5 स्टार रैंकिंग को बनाके रखना वो भी बिना किसी रुकावट के, ही इसे दूसरे फंडों की भीड़ में अलग खड़ा करता है।

2018 के 10 सबसे अच्छे फंड मैनेजर- ऐसे फैक्टर जो एक सफल इन्वेस्टमेंट की चाबी है

इस फंड के अंदर मार्केट कैप की सबसे अच्छी 100 कंपनियों में लगभग 35% के असेट पर इन्वेस्ट कर सकते हैं, जिसमें 65% मिडकैप स्टॉक्स शामिल हैं।

3. HDFC स्मॉल कैप फंड – डायरेक्ट- ग्रोथ

यह एक स्मॉल कैप म्युच्युअल  फंड है जिसे 1 जनवरी 2013 को लॉन्च किया गया था। यह एक ऐसा फंड है जिसमे बहुत ज़्यादा रिस्क होती है और जिसने अपने लॉन्च से अब तक 23.14% का रिटर्न दिया है।

इस फण्ड से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण  जानकारी:

ग्रो के द्वारा रेटिंग 5 स्टार
AUM (फंड का साइज़) ₹5,320 करोड़
कम से कम SIP

₹500

कम से कम SWP

₹500

अपने बेंच मार्क के मुकाबले में परफॉरमेंस लॉन्च होने से अब तक इसने लगातार अपने बेंचमार्क निफ़्टी स्मॉल कैप 100 TRI से बेहतर परफॉर्म किया है।
फंड की आयु 5 साल पुराना
खर्च अनुपात (एक्सपेंस रेशो )    10.66%
एग्ज़िट लोड अगर 0-1 साल में रिडीम किया जाए तो एग्ज़िट लोड 1% होगा।
टाइप ओपन एंडेड

इन्वेस्टमेंट उद्देश्य

इस स्कीम के इन्वेस्टमेंट का उद्देश्य है इक्विटी डेरिवेटिव्स सहित इक्विटी और इक्विटी से जुड़ी सेक्योरिटीज़ के  एक्टिव रूप से चल रहे पोर्टफोलियो में इन्वेस्ट करके लॉन्ग – टर्म कैपिटल में बढ़त हासिल करना।

2019 में इन्वेस्ट करने के लिए 5 सबसे अच्छे स्मॉल कैप फंड

यह म्युच्युअल  फंड स्मॉल साइज़ की कंपनियों के स्टॉक्स (शेयर) में इन्वेस्ट करता है। ये कंपनियाँ हाई रिटर्न देती हैं मगर इनके स्टॉक्स (शेयर) बहुत रिस्क वाले होते हैं।

4.L&T इमर्जिंग बिज़नेस फंड – डायरेक्ट – ग्रोथ

यह एक स्मॉल कैप म्युच्युअल  फंड है जिसे 12 मई 2014 को लॉन्च किया गया था। यह एक ऐसा फंड है जिसमे बहुत ज़्यादा रिस्क होती है और जिसने अपने लॉन्च से अब तक 29.06% का रिटर्न दिया है।

इस फण्ड से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण  जानकारी:

ग्रो के द्वारा रेटिंग 4 स्टार
AUM (फंड का साइज़) ₹5,163 करोड़
कम से कम SIP

₹500

कम से कम SWP

₹500

अपने बेंच मार्क के मुकाबले में परफॉरमेंस लॉन्च होने से अब तक इसने लगातार अपने बेंचमार्क S&P BSE स्मॉल कैप TRI से बेहतर परफॉर्म किया है।
फंड की आयु 4 साल पुराना
खर्च अनुपात (एक्सपेंस रेशो )    11.57%
एग्ज़िट लोड अगर 0-1 साल में रिडीम किया जाए तो एग्ज़िट लोड 1% होगा।
टाइप ओपन एंडेड

इन्वेस्टमेंट उद्देश्य

यह स्कीम मुख्य रूप से उभरती हुई/इमर्जिंग कंपनियों (के स्मॉल कैप स्टॉक) पर अपना ध्यान रखते हुए भारतीय मार्केट में इक्विटी डेरिवेटिव सहित, इक्विटी और इक्विटी से जुड़ी सेक्योरिटीज़ के डाइवर्सिफाइड पोर्टफोलियो में इन्वेस्ट करके लॉन्ग-टर्म कैपिटल में बढ़त हासिल करने का उद्देश्य रखती है।

यह स्कीम साथ ही फॉरेन सेक्योरिटीज़ में भी इन्वेस्ट करती है। इमर्जिंग /उभरती हुई कंपनियाँ  ऐसी कंपनियाँ होती हैं, जो अपने डेवलपमेंट (विकास) के पहले पड़ाव पर होती हैं और जो पहले से फैले हुए मार्केट की तुलना में अपनी रेवेन्यू और फ़ायदे को हाई रेट पर बढ़ाने की काबिलियत रखती हैं ।

स्मॉल कैप फंड में इन्वेस्ट करते समय, नुकसान कम करने के 5 स्टेप्स

हालाँकि, इस स्कीम का उद्देश्य पूरा हो और इससे रिटर्न भी मिले, इस बात की कोई गारंटी नहीं है।

याद रखने योग्य बातें

ऐसी म्युच्युअल  फंड स्कीम जो आपके इन्वेस्टमेंट के उद्देश्यों से मेल खाते हों, को चुनने से पहले कईं ऐसे फैक्टर हैं, जिन पर आपको ध्यान देना चाहिए।

इन्वेस्ट करने से पहले जिन कुछ महत्वपूर्ण  बातों को आपको हमेशा याद रखना चाहिए, वो हैं:

1.ऊँची दरें: सबसे ज़्यादा रिटर्न देने वाले फंड में आँख बंद करके पैसा ना लगाएँ। जितनी समय अवधि के लिए आप इन्वेस्ट करना चाहतें हैं, उसी समय अवधि के आधार पर इन्वेस्ट करें।   

2.हर व्यक्ति की आर्थिक स्थिति अलग-अलग होती है। आप खुद से हिसाब लगाएँ कि आप कितना इन्वेस्ट  कर सकते हैं- किसी फंड की लोकप्रियता के कारण पैसा न लगाएँ।

  1. सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP), इक्विटी-ऑरिएंटड म्युचुअल फंड्स में  इन्वेस्ट करने के लिए एक सबसे सुरक्षित ऑप्शन है।  

4.म्युच्युअल  फंड के डायरेक्ट प्लान आपको म्युचुअल फंड स्कीम के रेगुलर (नियमित) प्लान के मुकाबले ज्यादा ऊँचे रिटर्न्स देते हैं।  

5.एसटीपी(सिस्टेमैटिक ट्रांसफर प्लॉन) उन इन्वेस्टर्स के लिए सबसे अच्छा है जो म्युचुअल फंड योजनाओं (स्कीम्स) में एक मुश्त (लम्प-सम) रकम लगाना चाहते हैं क्योंकि इस तरह उनको जितनी रिस्क है उसके मुकाबले दोहरे फ़ायदे मिलते हैं।    

6.यह जरूरी है कि आप अपने इन्वेस्टमेन्ट  को समय-समय पर रिव्यु करें , लेकिन ज़्यादा बार नहीं। कुछ सप्ताह में एक बार काफी है।   

इसके अलावा, म्यूचुअल फंड से जुड़े कईं  अलग-अलग मिथक और गलत धारणाएं हैं जो मार्केट में फैली होती हैं। सफल इन्वेस्टर वही है जो मिथकों को नजरअंदाज करता है और सिर्फ़ उसी बात पर ध्यान देता हैं जिस पर ध्यान देने की ज़रूरत है।

10 ऐसे राज़ जो सिर्फ़ एक सफ़ल इन्वेस्टर ही जानता है

हैप्पी इन्वेस्टिंग !

डिस्क्लेमर :इस लेख में व्यक्त किये गए विचार इस लेख के लेखक के हैं न कि ग्रो के