क्या आप सेविंग्स बैंक अकॉउंट में पैसा रखते हैं?

हर कोई करता है। और आपको  भी करना चाहिए।

अभी इन्वेस्ट करें

मगर इसमें से काफी कुछ की तुरंत ज़रूरत नहीं है।

आपका सेविंग बैंक अकॉउंट  आपको लगभग 3.5% का रिटर्न देता है। क्या आप जानते हैं कि लिक्विड फंड कितने  देते हैं? लगभग 7-8% हर साल। जो इसी तरह की रिस्क के लिए बहुत ज़्यादा है।

इसी वजह से लोग उन पैसों को लिक्विड फंड्स में इन्वेस्ट करना पसंद करते हैं जिनकी उन्हें मुसीबत के समय (इमरजेंसी) में ज़रूरत पड़ सकती है।

लिक्विड फंड्स फिक्स्ड डिपॉज़िट (FD)से बेहतर क्यों हैं?

आइए  हम 2019 के लिए 10 सबसे अच्छे लिक्विड  फंड्स के देखें, जिनमें आप इन्वेस्ट कर सकते हैं।

10 Best Liquid Funds to Invest in 2019 - At a Glance
Fund Name 1Y 3Y 5Y Expense Ratio Turnover Ratio Category Risk
Reliance Liquid Fund - Direct - Growth 7.61% 7.33% 7.89% 0.15% NA Debt
(Liquid)
Low
HDFC Liquid Fund - Direct - Growth 7.43% 7.2% 7.8% 0.15% NA Debt
(Liquid)
Low
Axis Liquid Fund - Direct - Growth 7.59% 7.32% 7.87% 0.11% NA Debt
(Liquid)
Low
Indiabulls Liquid Fund - Direct - Growth 7.5% 7.38% 7.96% 0.1% NA Debt
(Liquid)
Low
ICICI Prudential Liquid Fund - Direct - Growth 7.55% 7.27% 7.85% 0.15% NA Debt
(Liquid)
Low
L&T Liquid Fund - Direct - Growth 7.55% 7.3% 7.86% 0.1% NA Debt
(Liquid)
Low
Essel Liquid Fund - Direct - Growth 7.62% 7.42% 7.97% 0.09% NA Debt
(Liquid)
Low
HSBC Cash Fund - Direct - Growth 7.58% 7.28% 7.83% 0.08% NA Debt
(Liquid)
Low
Tata Money Market Fund - Direct - Growth 0.44% 4.84% 6.36% 0.11% NA Debt
(Money Market)
Low
Principal Cash Management Fund - Direct - Growth -1.72% 4.16% 5.97% 0.1% NA Debt
(Liquid)
Low

5 सबसे अच्छे लिक्विड फंड्स  

यहाँ कुछ सबसे अच्छे लिक्विड फ़ंड  दिए गए हैं, जिनमें आपको इन्वेस्ट करना चाहिए।

1. रिलायंस लिक्विड फंड

आजकल , रिलायंस लिक्विड फ़ंड मार्केट  में सबसे लोकप्रिय लिक्विड फंडों में से एक है और इसका उद्देश्य ठीक ठाक  रिस्क और ज़्यादा लिक्विडिटी के साथ अच्छा रिटर्न देना है । यह 2018 के सबसे अच्छे लिक्विड फंडों में से एक है।

इस फ़ंड  की ज़रूरी जानकारी इस प्रकार है:

लॉन्च की तारीख़ 01 जनवरी 2013
एनएवी (24 मई 2018) ₹4,282.4676
प्लॉन टाइप डायरेक्ट
ग्रो द्वारा रेटिंग 3 स्टार
एयूएम(फंड साइज़ ) ₹21,747
जोख़िम का दर्जा (रिस्कोमीटर) बहुत कम
न्यूनतम सिप (SIP)    उपलब्ध नहीं है
न्यूनतम एस डब्ल्यू पी (SWP) ₹500
अपने बेंचमार्क के मुकाबले में परफॉरमेंस अपने लॉन्च के बाद से लगातार अपने बेंचमार्क CRISIL लिक्विड के मुकाबले बेहतर परफॉर्म किया है।
फंड की आयु 5 साल पुराना
खर्च अनुपात (एक्सपेंस रेशो)       0.15%
एग्ज़िट लोड NIL
टाइप   ओपन एंडेड

2. HDFC लिक्विड फंड  

HDFC लिक्विड फ़ंड का मुख्य उद्देश्य लिक्विडिटी के उच्च स्तर के साथ लगातार रिटर्न्स  को बढ़ाना है, जिसमें एक समझदारी भरे पोर्टफ़ोलियो मिक्स के द्वारा मनी मार्केट और डेट इंस्ट्रूमेंट्स को शामिल किया जाता   है। यह भी 2018 में अच्छा परफॉर्म करने वाले लिक्विड फंड्स में से एक है।

इस फ़ंड की ज़रूरी जानकारी इस प्रकार है:

लॉन्च की तारीख़ 31 दिसंबर 2012
एनएवी (24 मई 2018) ₹3,457.8237
प्लॉन टाइप डायरेक्ट
ग्रो द्वारा रेटिंग 3 स्टार
एयूएम(फंड साइज़ ) ₹30,233
जोख़िम का दर्जा (रिस्कोमीटर) बहुत ज़्यादा
न्यूनतम सिप (SIP)    ₹500
न्यूनतम एस डब्ल्यू पी (SWP) ₹500
अपने बेंचमार्क के मुकाबले में परफॉरमेंस अपने लॉन्च के बाद से लगातार अपने बेंचमार्क CRISIL लिक्विड के मुकाबले बेहतर परफॉर्म  किया है।
फंड की आयु 5 साल पुराना
खर्च अनुपात (एक्सपेंस रेशो)       0.15%
एग्ज़िट लोड NIL
टाइप   ओपन एंडेड

3. एक्सिस लिक्विड फंड

एक्सिस लिक्विड फंड कम रिस्क और मनी मार्केट और हाई क्वालिटी वाले डेट सेक्योरिटीज़  के पोर्टफोलियो से ज़्यादा लिक्विडिटी के साथ एक अच्छा रिटर्न बनाना चाहता है।

इस फ़ंड की ज़रूरी जानकारी इस प्रकार है:

लॉन्च की तारीख़ 01 जनवरी 2013
एनएवी (24 मई 2018) ₹1,947.0198
प्लॉन टाइप डायरेक्ट
ग्रो द्वारा रेटिंग 4 स्टार
एयूएम(फंड साइज़ ) ₹24,161
जोख़िम का दर्जा (रिस्कोमीटर) बहुत कम
न्यूनतम सिप (SIP)    उपलब्ध नहीं है
न्यूनतम एस डब्ल्यू पी (SWP) ₹1,000
अपने बेंचमार्क के मुकाबले में परफॉरमेंस अपने लॉन्च के बाद से लगातार अपने बेंचमार्क CRISIL लिक्विड के मुकाबले बेहतर परफॉर्म  किया है।
फंड की आयु 5 साल पुराना
खर्च अनुपात (एक्सपेंस रेशो)       0.11%
एग्ज़िट लोड NIL
टाइप   ओपन एंडेड

4. इंडिया बुल्स लिक्विड फंड  

आजकल, इंडियाबुल्स लिक्विड फ़ंड,  मार्केट में सबसे अच्छी रेटिंग वाले  लिक्विड फंडों में से एक है और इसका उद्देश्य 91 दिनों तक की मैच्योरिटी के साथ मनी मार्केट और डेट सेक्योरिटीज़  के पोर्टफोलियो के जरिए कम रिस्क वाले रिटर्न के साथ हाई लेवल की लिक्विडिटी देना है।

इस फ़ंड  की ज़रूरी  जानकारी इस प्रकार है:

लॉन्च की तारीख़ 01 जनवरी 2013
एनएवी (24 मई 2018) ₹1,715.633
प्लॉन टाइप डायरेक्ट
ग्रो द्वारा रेटिंग 5 स्टार
एयूएम(फंड साइज़ ) ₹4,541
जोख़िम का दर्जा (रिस्कोमीटर) बहुत कम
न्यूनतम सिप (SIP)    उपलब्ध नहीं है
न्यूनतम एस डब्ल्यू पी (SWP) ₹500
अपने बेंचमार्क के मुकाबले में परफॉरमेंस अपने लॉन्च के बाद से लगातार अपने बेंचमार्क CRISIL लिक्विड के मुकाबले बेहतर परफॉर्म  किया है।
फंड की आयु 5 साल पुराना
खर्च अनुपात (एक्सपेंस रेशो)       0.07%
एग्ज़िट लोड NIL
टाइप   ओपन एंडेड

5. प्रिंसिपल कैश मैनेजमेंट फंड

इस फ़ंड  की ज़रूरी जानकारी इस प्रकार है:

लॉन्च की तारीख़ 01 जनवरी 2013
एनएवी (24 मई 2018) ₹1,710.8879
प्लॉन टाइप डायरेक्ट
ग्रो द्वारा रेटिंग 5 स्टार
एयूएम(फंड साइज़ ) ₹1,271
जोख़िम का दर्जा (रिस्कोमीटर) बहुत कम
न्यूनतम सिप (SIP)    उपलब्ध नहीं है
न्यूनतम एस डब्ल्यू पी (SWP) ₹500
अपने बेंचमार्क के मुकाबले में परफॉरमेंस अपने लॉन्च के बाद से लगातार अपने बेंचमार्क CRISIL लिक्विड के मुकाबले बेहतर परफॉर्म  किया है।
फंड की आयु 5 साल पुराना
खर्च अनुपात (एक्सपेंस रेशो)       0.15%
एग्ज़िट लोड NIL
टाइप   ओपन एंडेड

4. एचएसबीसी (HSBC) कैश फंड

यह फंड इस केटेगरी में,  उन कुछ लिक्विड फंड्स में से एक है, जिसका खर्च अनुपात (एक्सपेंस रेशो) कम से कम और रिटर्न ज़्यादा होता है |

इस फंड  की ज़रूरी  जानकारी इस प्रकार है:

लॉन्च की तारीख़ 01 जनवरी 2013
एनएवी (24 मई 2018) ₹1,748.759
प्लॉन टाइप डायरेक्ट
ग्रो द्वारा रेटिंग 4 स्टार
एयूएम(फंड साइज़ ) ₹3,364
जोख़िम का दर्जा (रिस्कोमीटर) बहुत कम
न्यूनतम सिप (SIP)    उपलब्ध नहीं है
न्यूनतम एस डब्ल्यू पी (SWP) ₹500
अपने बेंचमार्क के मुकाबले में परफॉरमेंस अपने लॉन्च के बाद से लगातार अपने बेंचमार्क CRISIL लिक्विड के मुकाबले बेहतर परफॉर्म  किया है।
फंड की आयु 5 साल पुराना
खर्च अनुपात (एक्सपेंस रेशो)       0.08%
एग्ज़िट लोड NIL
टाइप   ओपेन एंडेड

5. टाटा मनी मार्केट फंड

इस फ़ंड  ने अच्छे  रेटिंग वाले कॉर्पोरेट सेक्टरों  द्वारा जारी किए गए मनी मार्केट इंस्ट्रूमेंट्स में इन्वेस्ट करके कैपिटल प्रिज़र्वेशन/पूँजी  की बचत के साथ अच्छी लिक्विडिटी और अच्छा रिटर्न देने का लक्ष्य रखा है।

इस फंड की ज़रूरी  जानकारी इस प्रकार है:

लॉन्च की तारीख़ 01 जनवरी 2013
एनएवी (24 मई 2018) ₹3,236.1152
प्लॉन टाइप डायरेक्ट
ग्रो द्वारा रेटिंग 4 स्टार
एयूएम(फंड साइज़ ) ₹3,367
जोख़िम का दर्जा (रिस्कोमीटर) बहुत कम
न्यूनतम सिप (SIP)    उपलब्ध नहीं है
न्यूनतम एस डब्ल्यू पी (SWP) ₹500
अपने बेंचमार्क के मुकाबले में परफॉरमेंस अपने लॉन्च के बाद से लगातार अपने बेंचमार्क CRISIL लिक्विड के मुकाबले बेहतर परफॉर्म  किया है।
फंड की आयु 5 साल पुराना
खर्च अनुपात (एक्सपेंस रेशो)       0.1%
एग्ज़िट लोड NIL
टाइप   ओपेन एंडेड

लिक्विड फ़ंड  क्या है?

यह इन दिनों एक बहुत ही आम सवाल है: लिक्विड फंड्स का मतलब क्या है?

सीधे शब्दों में कहें तो लिक्विड फंड डेट म्युचुअल फंड्स होते हैं जो शॉर्ट-टर्म मार्केट इंस्ट्रूमेंट्स जैसे ट्रेज़री बिल, सरकारी सेक्योरिटीज़ आदि में पैसा लगाते हैं।

ये फ़ंड  91 दिनों तक की मैच्योरिटी वाले इंस्ट्रूमेंट्स  में इन्वेस्ट कर सकते हैं। कम मैच्योरिटी अवधि, एक फ़ंड मैनेजर की  इन्वेस्टर्स की रिडेम्पशन की मांग को पूरा करने में मदद करती है।

लिक्विड फंड्स  बनाम सेविंग बैंक अकॉउंट : कौन सा बेहतर इन्वेस्टमेंट है?

लिक्विड फंड्स के फायदे :

  1. सभी डेट फंड्स में से , लिक्विड फंड्स सबसे स्थिर रिटर्न देते हैं।
  2. आसानी से कैश  में बदला जा सकता है , वह भी एक दिन के अंदर।
  3. लिक्विड फ़ंड उन इन्वेस्टर्स के लिए  सबसे सही होते हैं जिनके पास सेविंग बैंक अकॉउंट  या फिक्स्ड डिपॉजिट्स (FD) में ज़्यादा राशि पड़ी है और जो बेहतर रिटर्न प्राप्त करना चाहते हैं।
  4. वे 91 दिनों तक की मैच्योरिटी  अवधि वाले इंस्ट्रूमेंट्स में इन्वेस्ट करते हैं।
  5. लिक्विड फंड्स में इन्वेस्ट करने पर लगभग 6-8% का रिटर्न्स मिलता है जो फिक्स्ड डिपॉज़िट से ज़्यादा है।

6 . आसान लिक्विडिटी। आपको एक दिन के भीतर अपना पैसा मिल जाता है।

  1. लिक्विड फंड्स का सबसे बड़ा टैक्स पर फ़ायदा यह है कि इन फंड्स पर डिविडेंड टैक्स-फ़्री है।
  2. अन्य म्युचुअल  फंडों से अलग, लिक्विड फंड्स की नेट एसेट वैल्यू (NAV ) अन्य म्युचुअल फंड्स की तरह  अक्सर बदलती नहीं है।
  3. सभी म्युचुअल फंड स्कीमों  में से लिक्विड फंड में इन्वेस्टमेंट के लिए एक्सपेंस रेशो सबसे कम है।
  4. लिक्विड फंड्स उन इन्वेस्टर्स  के लिए सबसे अच्छे हैं जो ज़्यादा रिस्क नहीं लेना चाहते हैं और बिना शेयर मार्केट  में इन्वेस्टमेंट किए अपने इन्वेस्टमेंट पर निश्चित रिटर्न चाहते हैं।

लिक्विड फंड क्या हैं? केवल 4 चीजें जो आपको पता होनी चाहिए

लिक्विड फंड्स टैक्सेशन

लिक्विड म्युचुअल फंड्स पर लगने वाले टैक्स उस अवधि के आधार पर दो तरह के होते हैं, जिस अवधि के लिए उनमें इन्वेस्ट किया जाता है। ये दो तरह के होते हैं :

शॉर्ट-टर्म कैपिटल गेन टैक्स: यह 36 महीने या उससे कम अवधि के लिए इन्वेस्ट किये गए लिक्विड फंड्स पर लागू होता है यानी 3 साल से कम कुछ भी। शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन टैक्स में, फ़ंड पर टैक्स की कैलकुलेशन व्यक्ति के टैक्स स्लैब के अनुसार की जाती है, यानि जितना फायदा हुआ है उस राशि पर 5%, 20% या 30%।

लॉन्ग-टर्म कैपिटल गेन टैक्स: यह 36 महीने या उससे अधिक की अवधि के लिए इन्वेस्ट किए गए डेट म्युचुअल फंड्स पर लागू होता है यानी 3 साल से ज़्यादा कुछ भी। लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स में फंड्स पर टैक्स की कैलकुलेशन जितना लाभ हुआ है उस पर कॉस्ट इंडेक्सेशन के साथ 20% की दर से की जाती है।

इंडेक्सेशन एक ऐसा तरीका है जो आपके खरीद मूल्य को महंगाई के अनुसार तय करता है। और आपके कैपिटल गेन पर कम टैक्स अदा करने में मदद करता है।

म्युचुअल फंड में टैक्सेशन का सिद्धांत

उदाहरण के लिए ,

विवरण फ़िक्सेड डेपोज़िट्स डेट फंड्स
इन्वेस्ट की  गई राशि ₹10 लाख़ ₹10 लाख़
रिटर्न रेट (अनुमानित) 10% 10%
लॉक इन पीरियड 5 साल 5 साल
अवधि ख़तम होने पर मिलने वाली राशि ₹15,00,000 ₹15,00,000
प्रति वर्ष मुद्रास्फीति(इन्फ्लेशन) 8% 8%
कुल इंडेक्स्ड इन्वेस्टमेंट ₹ 14,00,000
राशि जिस पर टैक्स लगेगा ₹5,00,000 ₹1,00,000
चुकाए जाने वाला टैक्स ₹1,50,000 ₹20,000
टैक्स के बाद  मिलने वाले संभावित रिटर्न्स ₹3,50,000 ₹4,80,000

 

इस प्रकार, भले ही एक बैंक FD और लिक्विड फ़ंड  समान दर पर रिटर्न देते हों, लेकिन एक लिक्विड फंड 3 साल से ज़्यादा के लिए इन्वेस्ट करने पर पोस्ट-टैक्स, ज़्यादा रिटर्न देगा।  ।

2018 में म्युचुअल फंड्स पर टैक्सेशन : एक पूर्ण गाइड

कैसे लिक्विड फंड्स, सेविंग बैंक अकॉउंट  से बेहतर हैं?

लोकप्रिय सेविंग बैंक अकॉउंट  स्कीम में पैसा लगाने से कईं गुना बेहतर है लिक्विड फंडों  में इन्वेस्टमेंट करना।

सेविंग बैंक अकॉउंट  की लोकप्रियता और स्थिरता  के कारण, एक आम भारतीय टैक्सपेयर उन पर ज़्यादा भरोसा करता है। हालांकि, अब वे इतने लोकप्रिय शॉर्ट-टर्म इन्वेस्टमेंट भी नहीं रहे हैं। यह इसलिए भी है क्योंकि  अलग-अलग इन्वेस्टर्स ने अपने अलग इन्वेस्टमेंट उद्देश्यों के चलते म्युचुअल फंड्स को बड़ी संख्या में अपनाना शुरू कर दिया है।

आपकी मेहनत की गाढ़ी कमाई जो एक सेविंग बैंक अकॉउंट में है, आपको हर साल सिर्फ 4% इंटरेस्ट देती है। जबकि , देखा जाए तो पिछले 1 साल में, सबसे अच्छे लिक्विड फंड ने लगभग 6-7 % का सालाना रिटर्न दिया है।

इसलिए, अकेले रिटर्न के आधार पर, लिक्विड  फंड एक सेविंग बैंक अकॉउंट से बेहतर होता है। यदि आपकी आय बढ़ने वाली है या बोनस आ रहा है, तो लिक्विड फंड में इन्वेस्ट  करें और पार्टी बाद में करें।

लेकिन याद रखें कि आखिर में, आपको अपना फैसला अपनी रिस्क उठाने की क्षमता , समय और इन्वेस्टमेंट के लक्ष्यों को देखते हुए ही लेना चाहिए।  जैसा कि मार्केट पिछले कुछ सालों में सकारात्मक दिख रहा है और यूनियन बजट 2018 की घोषणा के साथ आने वाले सालों में ज़्यादा आर्थिक विकास की कई और संभावनाएं भी हैं, इसलिए सेविंग बैंक अकॉउंट  की तुलना में लिक्विड फंडों को चुनना बेहतर होगा ।

10 ऐसे राज़ जो सिर्फ़ सफ़ल म्युचुअल फंड इन्वेस्टर्स ही जानते हैं  

ऑनलाइन म्युचुअल फंड में इन्वेस्ट करना बहुत आसान भी है और कागज़ रहित भी। बस अपने ग्रो अकॉउंट  में लॉग इन करें, एक फंड चुनें, और नेट बैंकिंग का इस्तेमाल करके इन्वेस्ट करें – ठीक उसी तरह जैसे आप ऑनलाइन ख़रीदारी के वक़्त  करते हैं।

ग्रो 30: हर म्युचुअल फंड केटेगरी के सबसे अच्छे फंड

हैप्पी इन्वेस्टिंग !

डिस्क्लेमर :इस लेख में प्रकट किये गए विचार  इसके लेखक के हैं ना कि “ग्रो “ के