स्मॉल कैप फंड्स भले ही उतार पर हों, लेकिन आज भी बहुत से इन्वेस्टर्स स्मॉल कैप म्युच्युअल  फंड के पीछे पागल हैं।

हर कोई यह जानता है कि स्मॉल-कैप फंड्स रिस्की हैं और अस्थिर भी।

ये इनका स्वाभाव है जिसका आप कुछ नहीं कर सकते हैं।

आप जो कर सकते हैं वो है, सही स्मॉल-कैप फंड का चुनाव करना और अपनी खून-पसीने की कमाई को सही तरीके से इन फंड्स में इन्वेस्ट करना।

2019 में  इन्वेस्ट करने लिए 5 सबसे अच्छे स्मॉल-कैप फंड्स की लिस्ट यहाँ दी गई है

2019 के 5 सबसे अच्छे स्मॉल कैप फंड्स - विवरण
Fund Name 1Y 3Y 5Y Expense Ratio Turnover Ratio Category Risk
HDFC Small Cap Fund - Direct - Growth -2.92% 17.39% 16.46% 0.84% 37% Equity
(Small Cap)
Moderately High
L&T Emerging Businesses Fund - Direct - Growth -7.93% 15.86% 16.22% 0.82% 26% Equity
(Small Cap)
High
SBI Small Cap Fund - Direct - Growth 0.61% 17.22% 23.01% 1.23% 64% Equity
(Small Cap)
Moderately High
Reliance Small Cap Fund - Direct - Growth -4.12% 15.75% 17.42% 1.19% 146% Equity
(Small Cap)
Moderately High
Aditya Birla Sun Life Small Cap Fund - Direct - Growth -13.1% 8.32% 13.02% 1.03% 12% Equity
(Small Cap)
Moderately High

1.HDFC स्मॉल कैप फंड- डायरेक्ट- ग्रोथ

यह मौजूदा मार्केट में सबसे लोकप्रिय स्मॉल कैप म्युच्युअल  फंड है।

महत्वपूर्ण जानकारी

लॉन्च की तारीख़ 1 जनवरी 2013
एनएवी (NAV )(4 अक्टूबर 2018) ₹44.4
प्लॉन टाइप डायरेक्ट
ग्रो द्वारा रेटिंग 5 स्टार
एयूएम( AUM )    ₹4,143 करोड़
जोख़िम का दर्जा (रिस्कोमीटर) थोड़ा ज़्यादा
न्यूनतम सिप (SIP)    ₹500
न्यूनतम एस डब्ल्यू पी (SWP) ₹500
अपने बेंचमार्क के मुकाबले में परफॉरमेंस अपने लॉन्च से अब तक लगातार अपने बेंचमार्क NIFTY स्मॉल-कैप 100 TRI के मुकाबले बेहतर परफॉर्म किया है।
फंड की आयु 5 साल पुराना
खर्च अनुपात (एक्सपेंस रेशो)       0.54%
एग्ज़िट लोड अगर 0-1 साल में रिडीम किया जाए तो एग्जिट लोड 1% होगा
टाइप   ओपन एंडेड

 

इन्वेस्टमेंट का उद्देश्य

इस स्कीम का इन्वेस्ट करने का मुख्य उद्देश्य है लॉन्ग टर्म में कैपिटल में बढ़ोतरी करना | इसके लिए ये ज़्यादातर स्मॉल कैप कंपनियों में इन्वेस्ट करती है और अपने पोर्टफोलियो को नियमित रूप से मैनेज करती है | इसके पोर्टफोलियो में इक्विटी और इक्विटी से जुड़े सिक्योरिटीज़ जिसमें इक्विटी डेरिवेटिव्स भी आता है शामिल होते हैं |

हालाँकि इन्वेस्टमेंट का यह उद्देश्य पूरा हो, इस बात की कोई गारंटी या भरोसा नहीं है।

होल्डिंग विश्लेषण

इस फंड में एक्सपोनेंशियल बढ़ोतरी की क्षमता है और यह इन्वेस्टमेंट पर हाई रिटर्न भी देता है।

यह फंड उन इन्वेस्टर्स  के लिए अच्छा है जो ज्यादा रिस्क ले सकते हैं या जो सीज़न्ड इन्वेस्टर्स  हैं।

ऐसे इन्वेस्टर्स जिन्हें म्युच्युअल फंड्स की सभी बातों जैसे उससे जुडी रिस्क की भी अच्छी जानकारी हो, वे इस  फंड में इन्वेस्ट कर सकते हैं |

HDFC स्मॉल कैप फंड (डायरेक्ट) पर रिव्यु: क्या यह आज के समय में सबसे अच्छा स्मॉल कैप फंड है?

2.L&T एमर्जिंग बिज़नेस फंड- डायरेक्ट- ग्रोथ

यह फंड दूसरों की तुलना में इस केटेगरी के लिए काफी नया है मगर अपने लॉन्च होने से अब तक अपनी पहचान बना चुका  है।

महत्वपूर्ण  जानकारी

 

लॉन्च की तारीख़ 12 मई 2014
एनएवी (NAV )(4 अक्टूबर 2018) ₹24.9
प्लॉन टाइप डायरेक्ट
ग्रो द्वारा रेटिंग 5 स्टार
एयूएम( AUM )    ₹4,93 4करोड़
जोख़िम का दर्जा (रिस्कोमीटर) ज़्यादा  
न्यूनतम सिप (SIP)    ₹500
न्यूनतम एस डब्ल्यू पी (SWP) ₹500
अपने बेंचमार्क के मुकाबले में परफॉरमेंस पिछले एक साल में अपने बेंचमार्क NIFTY स्मॉल-कैप 100 TRI के मुकाबले काम अच्छा परफॉर्म किया है
फंड की आयु 4 साल पुराना
खर्च अनुपात (एक्सपेंस रेशो)       1.57%
एग्ज़िट लोड अगर 0-1 साल में रिडीम किया जाए तो एग्जिट लोड 1% होगा
टाइप   ओपन एंडेड

 

इन्वेस्टमेंट का उद्देश्य

यह स्कीम मुख्यत:डाइवर्सिफाइड इक्विटी फंड है जो ख़ास तौर पर स्मॉल-कैप स्टॉक्स में इन्वेस्ट करती है ताकि लॉन्ग-टर्म कैपिटल पर अच्छा लाभ पाया जा सके।

हालाँकि इन्वेस्टमेंट का यह उद्देश्य पूरा हो, इस बात की कोई गारंटी या भरोसा नहीं है।

होल्डिंग विश्लेषण

पिछला साल इस फण्ड के लिए अच्छा साबित नहीं हुआ है और इसके रिटर्न्स नेगेटिव रहे हैं।

लेकिन सिर्फ पिछले 1 साल का परफॉरमेंस  इस फंड की असली क्षमता को आँकने के लिए सही मानदंड (क्राइटेरिया) नहीं है।

इसे भी पढ़ें, HDFC स्मॉल कैप बनाम  L&T इमर्जिंग बिज़नेस फंड्स: इन दोनों में से कौन सा बेहतर स्मॉल-कैप फंड है?  

3. SBI स्मॉल कैप फंड-डायरेक्ट-ग्रोथ

यह फंड हाल ही में 5 स्टार रेटिंग के साथ फंड के एक ख़ास समूह में चला गया है।

महत्वपूर्ण जानकारी

लॉन्च की तारीख़ 2 जनवरी 2013
एनएवी (NAV )(4 अक्टूबर 2018) ₹52.9
प्लॉन टाइप डायरेक्ट
ग्रो द्वारा रेटिंग 5 स्टार
एयूएम( AUM )    ₹792 करोड़
जोख़िम का दर्जा (रिस्कोमीटर) थोड़ा ज़्यादा
न्यूनतम सिप (SIP)    ₹500
न्यूनतम एस डब्ल्यू पी (SWP) ₹1,000
अपने बेंचमार्क के मुकाबले में परफॉरमेंस अपने लॉन्च से अब तक लगातार बेंचमार्क निफ़्टी स्मॉल -कैप 100TRI के मुकाबले  बेहतर परफॉर्म किया है
फंड की आयु 5 साल पुराना
खर्च अनुपात (एक्सपेंस रेशो)       1.47%
एग्ज़िट लोड अगर 0-1 साल में रिडीम किया जाए तो एग्जिट लोड 1% होगा
टाइप   ओपन एंडेड

 

इन्वेस्टमेंट का उद्देश्य

इस स्कीम का इन्वेस्ट करने का मुख्य उद्देश्य है आमदनी और लॉन्ग टर्म में कैपिटल में बढ़ोतरी करना / इसका पोर्टफोलियो डायवर्सिफाइड होता है जिसमें  ज़्यादातर इक्विटी और इक्विटी से जुड़े सिक्योरिटीज की नामी कंपनियां शामिल होती हैं /

हालाँकि इन्वेस्टमेंट का यह मक़सद पूरा हो, इस बात की कोई गारंटी  या भरोसा नहीं है।

होल्डिंग विश्लेषण

इस फंड ने अपनी ही केटेगरी के दूसरे फंड्स की तुलना में, पिछले 5 सालों में बहुत हाई रिटर्न दिया है।

इसलिए, इस फण्ड में लॉन्ग टर्म के लिए सिप( SIP) मोड से इन्वेस्ट करें।

रिलायंस स्मॉल कैप बनाम SBI स्मॉल कैप फंड: कौन सा फंड बेहतर है?  

4. रिलायंस स्मॉल कैप फंड-डायरेक्ट-ग्रोथ

यह एक स्मॉल कैप इक्विटी ओरिएंटेड म्युच्युअल  फंड है जिसे 1 जनवरी, 2013 को लॉन्च किया गया था।

यह ज़्यादा जोखिम (हाई रिस्क) वाला फंड है और इसने अपने लॉन्च से अब तक 26.01% का रिटर्न दिया है।

महत्वपूर्ण जानकारी

लॉन्च की तारीख़ 1 जनवरी 2013
एनएवी (NAV )(4 अक्टूबर 2018) ₹41.6
प्लॉन टाइप डायरेक्ट
ग्रो द्वारा रेटिंग 4 स्टार
एयूएम( AUM )    ₹6,696 करोड़
जोख़िम का दर्जा (रिस्कोमीटर) थोड़ा ज़्यादा
न्यूनतम सिप (SIP)    ₹100
न्यूनतम एस डब्ल्यू पी (SWP) ₹100
अपने बेंचमार्क के मुकाबले में परफॉरमेंस अपने लॉन्च से अब तक लगातार बेंचमार्क निफ़्टी स्मॉल -कैप 100TRI के मुकाबले बेहतर परफॉर्म किया है
फंड की आयु 5 साल पुराना
खर्च अनुपात (एक्सपेंस रेशो)       1.47%
एग्ज़िट लोड अगर 0-1 साल में रिडीम किया जाए तो एग्जिट लोड 1% होगा
टाइप   ओपन एंडेड

इन्वेस्टमेंट का उद्देश्य

यह स्कीम ज़्यादातर स्मॉल कैप कंपनियों के इक्विटी और इक्विटी से जुड़े इंस्ट्रूमेंट में इन्वेस्ट करके लॉन्ग टर्म कैपिटल में बढ़ोतरी (अप्रीशिएशन) करने की कोशिश करती है।

हालाँकि इन्वेस्टमेंट का यह उद्देश्य पूरा हो, इस बात की कोई गारंटी या भरोसा नहीं है।

होल्डिंग विश्लेषण

रिलायंस स्मॉल कैप फंड डायरेक्ट उन स्मॉल कैप स्कीम्स में से है जो कि कंपनियों की क्वालिटी पर ज़्यादा ध्यान देती हैं | इसने अपने इन्वेस्टमेंट मैंडेट पर टिके रहते हुए औरों के मुकाबले लगातार अच्छा परफॉर्म करके खुद का अलग नाम बनाया है।

रिलायंस स्मॉल कैप फंड: क्या यह आपके लिए एक सही स्मॉल-कैप फंड है?

यह सिर्फ भारत में सबसे अच्छे परफॉर्म करने वाले फंड्स में से ही एक नहीं है बल्कि यह एक अकेला ऐसा फंड है जिसमें आप सिर्फ ₹100 से इन्वेस्टमेंट की शुरुआत कर सकते हैं।

5. आदित्य बिरला सन लाइफ स्मॉल कैप फंड- डायरेक्ट-ग्रोथ

यह एक स्मॉल कैप इक्विटी ओरिएंटेड म्युच्युअल  फंड है जिसे 1 जनवरी, 2013 को लॉन्च किया गया था।

यह एक ज़्यादा जोखिम (हाई रिस्क) वाला फंड है जिसने अपने लॉन्च से अब तक 26.01% का रिटर्न दिया है।

महत्वपूर्ण जानकारी

लॉन्च की तारीख़ 1जनवरी 2013
एनएवी (NAV )(4 अक्टूबर 2018) ₹35.9
प्लॉन टाइप डायरेक्ट
ग्रो द्वारा रेटिंग 4 स्टार
एयूएम( AUM )    ₹2,182 करोड़
जोख़िम का दर्जा (रिस्कोमीटर) थोड़ा ज़्यादा
न्यूनतम सिप (SIP)    ₹500
न्यूनतम एस डब्ल्यू पी (SWP) ₹100
अपने बेंचमार्क के मुकाबले में परफॉरमेंस पिछले एक साल में, अपने बेंचमार्क निफ़्टी स्मॉल -कैप 100TRI के मुकाबले कम अच्छा परफॉर्म किया है
फंड की आयु 5 साल पुराना
खर्च अनुपात (एक्सपेंस रेशो)       1.22%
एग्ज़िट लोड अगर 0-1 साल में रिडीम किया जाए तो एग्जिट लोड 1% होगा
टाइप   ओपन एंडेड

इन्वेस्टमेंट का उद्देश्य

यह स्कीम ज़्यादातर स्मॉल कैप कंपनियों के इक्विटी और इक्विटी से जुड़े इंस्ट्रूमेंट में इन्वेस्ट करके लॉन्ग टर्म कैपिटल में बढ़ोतरी (अप्रीशिएशन) करने की कोशिश करती है।

हालाँकि इन्वेस्टमेंट का यह मक़सद पूरा हो, इस बात की कोई गारंटी  या भरोसा नहीं है।

पिछले एक साल की परफॉरमेंस बहुत ही निराशाजनक रही है। हालाँकि जैसा मैंने पहले  भी बताया है, कि किसी फंड की क्षमता का अनुमान लगाने के लिए सिर्फ पिछले एक साल की परफॉरमेंस ही काफी नहीं है।

होल्डिंग विश्लेषण

5 स्टेप्स जिनसे स्मॉल कैप फंड्स में इन्वेस्ट करने पर होने वाले नुकसान को कम किया जा सकता है  

स्मॉल कैप फंड्स क्या हैं?

स्मॉल कैप फंड्स में, इन्वेस्टमेंट का एक बड़ा हिस्सा उन कम्पनियों में इन्वेस्ट किया जाता है जो या तो छोटे साइज की हों या जिनका कैपिटलाइजेशन छोटा हो।

सेबी (SEBI) की नई  परिभाषा के अनुसार, मार्किट कैपिटलाइजेशन के हिसाब से स्मॉल कैप फंड्स या तो स्मॉल-कैप स्टॉक्स में इन्वेस्ट करते हैं या फिर ऐसे स्टॉक्स में जिनकी रैंक 250 से कम हो।

अधिकांश  स्मॉल-कैप फंड्स करीब 60-90% स्मॉल कैप्स में और बचा हुआ भाग मिड-कैप्स और लार्ज कैप्स में इन्वेस्ट करते हैं ताकि इन्वेस्टमेंट को थोड़ी स्थिरता आ सके।

म्युच्युअल  फंड हाउसेज़ जो स्मॉल-कैप फंड्स ऑफर करते हैं; उनके पास प्रोफेशनल फंड मैनेजमेंट टीम होती हैं जो कि हर पोर्टफोलियो में सही मात्रा में इक्विटी को पहचानने और चुनने में माहिर होती हैं।

इन फंड्स की सफलता फंड हाउसेज़ द्वारा रिसर्च में लगाए गए समय और स्मॉल कैप सेगमेंट में सही स्टॉक्स के चुनाव पर निर्भर करती है।

पिछले एक महीने के अंदर स्मॉल-कैप फंड्स 8% तक गिरे हैं, मगर ये भी मत भूलिए कि 2017 में वो 55 % तक उठे भी थे।

सिर्फ इतना ही नहीं, 10 साल के रिटर्न को अगर देखा जाए, तो स्मॉल-कैप सबसे अच्छा परफॉर्म करने वाले फंड्स हैं।

स्मॉल कैप फंड्स में इन्वेस्ट करने के क्या फायदे हैं?

हालांकि ये फंड्स काफी रिस्की होते हैं, पर इनके अपने फायदे भी हैं।

आपके इंवेस्टमनेट पोर्टफोलियो में स्मॉल-कैप फंड्स होने के फ़ायदे

1.ज़्यादा रिटर्न्स

स्मॉल-कैप फंड्स में एक्सपोनेंशिअल ग्रोथ की योग्यता होती है और अगर स्मॉल-कैप सेगमेंट से सही स्टॉक्स चुने जाएँ तो इन्वेस्टमेंट पर ज़्यादा रिटर्न्स भी देते हैं।

क्या ज़्यादा रिस्क-ज़्यादा  रिटर्न आपकी पसंद है?

2. डाइवर्सिफिकेशन टूल

स्मॉल कैप स्टॉक्स, फंड के पोर्टफोलियो में डाइवर्सिफिकेशन के लिए काफी जगह देते हैं, क्योंकि इन्वेस्टमेंट पीरियड में अक्सर ये देखा गया है कि लार्ज कैप स्टॉक्स अच्छा परफॉर्म नहीं करते हैं, जबकि स्मॉल-कैप स्टॉक्स तेजी से बढ़ते हैं।

क्या आप सिर्फ़ सबसे ज़्यादा रिटर्न इन्वेस्टमेंट में ही इन्वेस्ट करना चाहते हैं? देखिये, कि आखिर क्यों डाइवर्सिफिकेशन एक बेहतर स्ट्रेटेजी है?

3.आपके इन्वेस्टमेंट को तेजी से बढ़ाते हैं

इन्हें स्टॉक मार्केट में कम फॉलो किया जाता है मतलब कम लोग इनमें इन्वेस्ट करते हैं, और आम तौर पर इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स इसे छूते नहीं हैं, जिससे समझदार इन्वेस्टर्स को अपने इन्वेस्टमेंट को तेजी से  बढ़ाने का मौका मिल जाता है।

4. फ्लेक्सिबल

स्मॉल-कैप कम्पनियाँ, लार्ज-कैप कंपनियों की तुलना में ज्यादा फ्लेक्सिबल होती हैं, इसीलिए आसानी से बदलावों के अनुरूप ढल जाती है।

चूंकि इनमें से अधिकतर अभी तक बिज़नेस की अलग-अलग लाइनों में फैले नहीं हैं,  इसलिए इनका मुख्य मक़सद अपने करंट बिज़नेस लाइन को बढ़ाना ही है।

म्युच्युअल  फंड्स के इन 10 फ़ायदों पर नज़र डालें

आपको स्मॉल कैप फंड्स में किस तरह इन्वेस्ट करना चाहिए?

अगर आप एक अनुभवी इन्वेस्टर हैं जिसके पास म्युच्युअल  फंड में इन्वेस्ट करने की अच्छी खासी जानकारी है, तो आपको उनके फायदे और नुकसान दोनों को ध्यान में रखते हुए स्मॉल कैप फंड्स में इन्वेस्ट करना चाहिए।

लेकिन इन्वेस्टरों को स्मॉल कैप स्टॉक्स में  लॉन्ग टर्म के लिए इन्वेस्ट करने से पहले सोचना चाहिए क्योंकि यह देखा गया है कि  इन कंपनियों को अच्छी परफॉरमेंस दिखाने में कम से कम 3 से 4 साल का वक़्त लग ही जाता है।  

लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट के लिए, 5 सबसे अच्छे म्युच्युअल  फंड्स

स्मॉल कैप फंड्स की सबसे अच्छी बात ये है कि इन्हें स्टॉक मार्केट में कम फॉलो किया जाता है मतलब कम लोग इनमें इन्वेस्ट करते हैं, और आम तौर पर इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स इसे छूते नहीं हैं, जिससे समझदार इन्वेस्टर्स को अपने इन्वेस्टमेंट को तेजी से बढ़ाने का मौका मिल जाता है।

निष्कर्ष

हाई परफार्मिंग इक्विटीज़ में ज़्यादा इन्वेस्ट करने के कारण स्मॉल कैप फंड्स लार्ज और मिड-कैप फंड्स की तुलना में बहुत रिस्की और वोलेटाइल इन्वेस्टमेंट इंस्ट्रूमेंट हैं।

ये फंड्स हाई ग्रोथ स्टॉक्स में इन्वेस्ट करके कैपिटल बढ़ाने (एप्रिशिएशन) का उद्देश्य रखते हैं।

स्मॉल कैप फंड्स उन इन्वेस्टरों के लिए सही हैं जो अपने कैपिटल के साथ ज़्यादा रिस्क लेने के साथ  लम्बे समय के लिए इन्वेस्ट करना चाहते हैं और ब्लू-चिप कंपनियों की तुलना में ज़्यादा रिटर्न पाना चाहते हैं।

म्युच्युअल  फंड्स के सबसे बड़े झूठ से बचें-रिस्क लेना बंद करें!

पिछले 6 महीनों में स्मॉल और मिड-कैप फंड्स ने कम अच्छा परफॉर्म किया है।

लेकिन लॉन्ग-टर्म इन्वेस्टर्स को ऐसे शार्ट-पीरियड के ख़राब परफॉरमेंस को अनदेखा कर देना चाहिए और SIPs  और STPs के ज़रिये इन्वेस्ट करना जारी रखना चाहिए।

हैप्पी इन्वेस्टिंग!

डिस्क्लेमर :इस लेख में व्यक्त किये गए विचार इस लेख के लेखक के हैं न कि ग्रो के

ग्रो पर और पढ़ें: